of 67 /67
jsy lg jksM fczt nh?kk] iVuk vkj vkj lh& 01@2019 Hkkjr ljdkj jsy ea=ky; jsyos HkrhZ cksMZl foLr`r dsanzhd`r jkstxkj lwpuk 7 osa ds-os-vk- osru esfVªDl ds ysoy 1 esa fofHkUu inksa ds fy, HkrhZ

jsy ea=ky; jsyos HkrhZ cksM Zl foLr`r dsanzhd `r jkst xkj lwp u k vkj … › notifications › CEN No-RRC-01_2019-Hindi… · k w § § w « m w m ð w ~ q y v k w ñ k e h § w

  • Upload
    others

  • View
    2

  • Download
    0

Embed Size (px)

Citation preview

  • jsy lg jksM fczt nh?kk] iVuk

    vkj vkj lh& 01@2019

    Hkkjr ljdkj jsy ea=ky;

    jsyos HkrhZ cksMZl

    foLr`r dsanzhd`r jkstxkj lwpuk

    7 osa ds-os-vk- osru esfVªDl dss ysoy–1 esa fofHkUu inksa ds fy, HkrhZ

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 1 of 66

    dsUnzhdr̀ jkstxkj lwpuk ¼lhb,u½ la- vkjvkjlh&01@2019 ¼7osa dsanzh; osru vk;ksx osru eSfVªDl ds ysoy&1 esa fofHkUu inksa ds fy, HkrhZ½

    izdk'ku dh frfFk 23-02-2019 vkosnuksa ds vkWuykbu iathdj.k dk izkjaHk 12-03-2019 dks 17-00 cts vkosnuksa ds vkWuykbu iathdj.k dk lekiu 12-04-2019 dks 23-59 cts rd fuEukafdr ek/;e ls vkosnu 'kqYd ds Hkqxrku dh vafre frfFk ,oa le; %

    ¼d½ vkWuykbu ¼usV cSafdax@ØsfMV dkMZ@MsfcV dkMZ@;wihvkb½

    23-04-2019 dks 23-59 cts rd

    ¼[k½ ,lchvkb pkyku 18-04-2019 dks 13-00 cts rd ¼x½ Mkd?kj pkyku 18-04-2019 dks 13-00 cts rd vkosnuksa ds vafre :i ls izLrqr ¼lcfeV½ djuk 26-04-2019 dks 23-59 cts rd dEI;wVj vk/kkfjr ijh{kk ¼lhchVh½ laHkkfor dk;ZØe

    flrEcj&vDVwcj 2019 uksV % 1- foLr`r lhb,u&vkjvkjlh&01@2019 dks viyksM fd;k tk,xk vkSj vkWuykbu iathdj.k rFkk

    vkosnu dh fyad bl lhb,u ds iSjk 21-0 ¼d½ esa mYysf[kr vkjvkjch ds vkf/kdkfjd osclkbVksa ij ykbo gksxhA

    2- lhchVh dh frfFk vkSj HkrhZ izfØ;k ds vU; pj.kksa dh lwpuk le;≤ ij bl lhb,u ds iSjk 21-0 ¼[k½ esa ;Fkk lwphc) jsyos HkrhZ izdks"Bksa ¼vkjvkjlh½ ds osclkbVksa ds ek/;e ls nh tk,xhA

    vkjvkjlh dh vksj ls vkjvkjch }kjk ik= Hkkjrh; ukxfjdksa ,oa bl lhb,u ds iSjk&04 esa ;Fkk iznf'kZr vU; ukxfjdksa ls Hkkjrh; jsy dh fofHkUu bdkb;ksa esa 7osa dsanzh; osru vk;ksx osru eSfVªDl ds ysoy&1 esa fofHkUu inksa ds fy, vkWuykbu vkosnu vkeaf=r fd, tkrs gSaA gj izdkj ls iw.kZ vkosnu fnukad 26-04-2019 dks 23-59 cts rd pqus x, jsy HkrhZ cksMZ dks vkWuykbu izLrqr fd, tkus pkfg,A

    fjfDr;ksa ds fooj.k % ,d utj esa

    fofHkUu inksa ds fy, vkjvkjch ,oa jsyosokbt fjfDr;ksa ds laf{kIr fooj.k rRdky lanHkZ gsrq uhps fn, x, gSaA blds vfrfjDr] lhbu esa 'kkfey fd, x, fofHkUu inksa ds iSjkehVj ¼vgZrk] fpfdRlk ekud vkSj ihMCY;wchMh bR;kfn ds in dh mi;qDrrk½ vuqyXud ^d^ ij gS vkSj lHkh vf/klwfpr inksa ds fy, vkjvkjch] jsyos ,oa in&okbt fjfDr vuqyXud ^[k^ ij gSA cgjgky] jsyos dks bl fu/kkZj.k esa la'kks/ku dk vf/kdkj gSA

    Ø- la-

    jsyos ;w-vkj- ,llh ,lVh vkschlh bZMCY;w,l dqy fjfDr

    ,Dl-,l,e

    lhlh,, *

    ihMCY;w chMh

    cSdykWx ihMCY;w chMh

    1 e/; jsyos 3597 1398 759 2656 935 9345 1870 1870 449 0 2 iwoZ e/; jsyos 1369 555 325 956 358 3563 713 713 166 0 3 iwoZ rVh; jsyos 1034 412 198 653 258 2555 510 510 105 0 4 iwoZ jsyos] lh,yMCY;w

    ,oa esVªks 4926 1461 775 2619 1087 10873 2175 2175 589 5

    5 mRrj e/; jsyos ,oa Mh,yMCY;w

    2080 678 317 1175 474 4730 948 948 145 6

    6 iwoksZRrj jsyos] ,elh,Q ,oa vkjMh,lvks

    1570 615 307 1107 403 4002 802 802 157 0

    7 mRrj if'pe jsyos 2132 814 384 1393 526 5249 1049 1049 324 0 8 iwoksZRrj lhekUr jsyos 1119 449 226 809 291 2894 575 575 144 0 9 mRrj jsyos] 5144 2017 1031 3644 1317 13153 2630 2630 626 0

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 2 of 66

    Mh,eMCY;w ,oa vkjlh,Q

    10 nf{k.k e/; jsyos 3663 1432 722 2577 934 9328 1867 1867 125 0 11 nf{k.k iwoZ e/; jsyos 797 219 115 366 167 1664 333 333 84 0 12 nf{k.k iwoZ jsyos 1933 738 361 1305 482 4914 965 965 215 95 13 nf{k.k if'pe jsyos ,oa

    vkjMCY;w,Q 2745 1138 557 2006 715 7167 1433 1433 193 6

    14 nf{k.k jsyos ,oa vkblh,Q

    4363 1353 787 2118 958 9579 1914 1914 222 0

    15 if'pe e/; jsyos 1596 633 308 1080 402 4019 804 804 226 0 16 if'pe jsyos 4287 1647 812 2914 1074 10734 2146 2146 556 0

    dqy ;ksx 42355 15559 7984 27378 10381 103769 20734 20734 4326 112 * lhlh,, ds varxZr fjfDr;ka dsoy jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr f'k{kqvksa ij ykxw gSaA uksV %

    1- ,llh] ,lVh] vkschlh&¼ukWu Øhfeys;j½] bMCY;w,l] ihMCY;wchMh] ,Dl-,l,e gsrq vkj{k.k ,oa fofHkUu ik= Jsf.k;ksa ds fy, vk;q esa NwV bl lhb,u esa fooj.k ds vuqlkj ykxw gksaxsA

    2- mi;qZDr fjfDr;ksa esa ihMCY;wchMh dk cSdykWx Hkh gSA 3- fuEukafdr tksf[ke Hkjs ifjpkyfud inksa dh fjfDr;ksa esa ihMCY;wchMh dks vkj{k.k dk;Z vis{kkvksa

    ds dkj.k ugha fn;k tk ldrk gSA Ø- la- inuke dqy fjfDr

    1 vflLVsaV IokbaV~leSu 14870 2 vflLVsaV fczt 913 3 VªSd esUVsuj xzsM&IV 40721 dqy 56504

    cgjgky] mi;qZDr inksa dh fjfDr;ksa esa ihMCY;wchMh vkj{k.k ds laca/k esa visf{kr izfr'krrk dks vU; 'ks’k inksa dh fjfDr;ksa esa lek;ksftr dj fy;k x;k gS tgka ihMCY;wchMh dks vkj{k.k fn;k tk ldrk gSA

    egRoiw.kZ funsZ'k&vkWuykbu iathdj.k ,oa vkosnu tek djuk 1- mEehnokjksa dks ;g lqfuf'pr dj ysuk pkfg, fd os vkWuykbu iathdj.k dh vafre frfFk vFkkZr~ 12-04-

    2019 dks inksa ds fy, fu/kkZfjr lHkh ik=rk j[krs gSa@ik=rk 'krsZa iwjh djrs gSaA d`i;k fu/kkZfjr 'kS{kf.kd ;ksX;rk ds fy, vafre ifj.kke dh izrh{kk djus okys mEehnokj vkosnu u djsaA

    2- vkWuykbu vkosnu ds Hkjus ls iwoZ] mEehnokjksa dks ;g lykg nh tkrh gS fd os bl vf/klwpuk ds lhb,u esa ,oa vkjvkjch ds osclkbVksa ij miyC/k lHkh funsZ'kksa vkSj lwpukvksa dks vPNh rjg ls i

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 3 of 66

    5- bl lhb,u ds iSjk 21-0 ¼d½ esa lwphc) vkjvkjch dh osclkbVksa ds ek/;e ls vkosnu vkWuykbu izLrqr fd;s tkus gSaA bl lhb,u esa blds lHkh vf/klwfpr inksa ds fy, p;fur jsyos dks dsoy ,d vkosnu izLrqr djuk visf{kr gSA mEehnokj dsoy ,d jsyos dks vkosnu dj ldrk gSA ,d ls vf/kd jsyos dks vkosnu ds ifj.kkeLo:i lHkh vkosnuksa dks vLohd`r dj fn;k tk,xkA bl lhb,u ds fy, fdlh mEehnokj }kjk ,d ls vf/kd vkosnu izLrqr djus ds fdlh iz;kl ds ifj.kkeLo:i mls fujgZ¼v;ksX;½ vkSj fooftZr¼fMckj½ djkj dj fn;k tk,xkA

    6- mEehnokjksa dks fjfDr rkfydk dks i

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 4 of 66

    2- ितबिंधत साम ी :- परी ा gkWy के अंदर मोबाइल फ़ोन, CywVwFk, isu ाइव, ySiVkWi, कैलकुलेटर, dykbZ घड़ी

    अथवा अ य कोई संचार उपकरण tSls bysDVªkWfud xtV अथवा isu/ पिसल, okWysV/ पस, बे ट, जूते और धाि वक igukos या आभूषण इ या द लाना स त मना ह।ै इन िनदश के उ लंघन के प रणाम व प ik=rk vLohd`r करने के साथ-साथ कानूनी कारवाई क जाएगी vkSj Hkfo"; dh परी ा म lfEefyr gksus ls oafpr dj fn;k tk,xkA उ मीदवार को muds िहत म lwfpr fd;k tkrk gS fd os ijh{kk LFky ij dksbZ izfrcaf/kr oLrq u yk,a य क इनक सरु ा dh O;oLFkk ugha dh tk ldrhA

    3- ijh{kk ds pj.k %& ;g ijh{kk dEI;wVj vk/kkfjr ijh{kk¼lhchVh½ gksxhA jsy iz'kklu dks ,dy vFkok

    cgq&Lrjh; i)fr esa lhchVh dks vk;ksftr djkus dk vf/kdkj gSA lhchVh esa vgZrk izkIr djus okys mEehnokjksa dks 'kkjhfjd n{krk ijh{kk esa lfEefyr gksuk iM+sxkA blds i'pkr~ nLrkost lR;kiu vkSj fpfdRlk tkap djk;k tk,xkA

    4- cqykok&i= %& mEehnokjksa dks vkjvkjch@vkjvkjlh ds vkf/kdkfjd osclkbVksa ij miyC/k djk;s x,

    fyad ls 'kgj vkSj frfFk dh lwpuk] bZ&dkWy ysVj rFkk ;k=k izkf/kdkj ¼tgka Hkh ykxw gks½ MkmuyksM djuk gksxkA

    5- vadksa dk lkekU;hdj.k %& cgq l=ksa esa gksus okyh lhchVh ds fy, vad lkekU;hd̀r fd, tk,axsA bl

    lwpuk ds iSjk 15-0 vkSj 15-1 esa fn, x, lw= ds vuqlkj vadksa dk lkekU;hdj.k fd;k tk,xkA ;|fi jsy iz'kklu dks lw= esa la'kks/ku@rduhdh vis{kkvksa ij vk/kkfjr fHkUu lw= dks viukus dk vf/kdkj gSA

    6- ihbVh ds fy, 'kkWVZfyLV djuk %& ihbVh ds fy, mEehnokjksa dh 'kkWVZfyfLVax jsyos@vkjvkjlh okbt

    fjfDr;ksa ¼tks jsyos iz'kklu dh vko';drk ds vuqlkj c

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 5 of 66

    vkjvkjch@vkjvkjlh HkrhZ izfØ;k ds fdlh Hkh Lrj ij fdlh Hkh vkosnd dh mEehnokjh vLohdr̀ dj ldrk gS] ;fn mEehnokj visf{kr ekunaMksa dks iwjk djrs ugha ik, tkrs gksa vkSj ;fn mls fu;qDr fd;k tkrk gS rks ,sls mEehnokj dks ukSdjh ls ljljh rkSj ij gVk fn;k tk,xkA

    1-4 bl vf/klwpuk ds vuqlkj in¼ksa½ ds fy, vkosnu djus ls iwoZ mEehnokjksa dks Lo;a vk'oLr dj ysuk

    pkfg, fd os vk;q] 'kS{kf.kd ;ksX;rk¼,a½ rFkk fpfdRlk ekud¼ksa½ lfgr lHkh ik=rk ekunaMksa dks iwjk djrs gSaA mEehnokjksa dks ;g lqfuf'pr djuk pkfg, fd vkWuykbu iathdj.k dh vafre frfFk vFkkZr~ 12-04-2019 ds vuqlkj muds ikl ekU;rk izkIr cksMZ@laLFkku }kjk fuxZr visf{kr ;ksX;rk izek.k&i= gSA fu/kkZfjr ;ksX;rk ds fy, vafre ijh{kk ds ifj.kke dh izrh{kk djus okys blds fy, ik= ugha gSa vkSj blfy, mUgsa vkosnu ugha djuk pkfg,A

    1-5 lwpuk ,oa@vFkok rF;ksa esa ekewyh Qsjcny ds lkFk ,d ls vf/kd jsyos dks vkosnu dk iz;kl djus

    okys mEehnokjksa ds vkosnu ,oa@vFkok mlh jsyos dks cgq vkosnu ljljh rkSj ij vLohd̀r dj fn, tk,axs vkSj ,sls mEehnokjksa dks vkjvkjch@vkjvkjlh dh lHkh Hkkoh ijh{kkvksa ls oafpr dj fn;k tk,xkA

    1-6 ftu mEEhnokjksa dks fdlh vkjvkjch@vkjvkjlh }kjk vkthou ;k fdlh fufnZ"V vof/k rd oafpr fd;k

    x;k gS] ftldh vof/k vHkh iwjh ugha gqbZ gS] mUgsa bl vf/klwpuk ds fy, vkosnu ugha djuk pkfg,A HkrhZ ds fdlh Hkh pj.k ds nkSjku tc Hkh ,sls mEehnokjksa dk irk pyrk gS rks mudh mEehnokjh vLohd`r dj nh tk,xkhA

    1-7 mEehnokjksa dks viuk uke] firk dk uke rFkk tUefrfFk dk mYys[k dsoy ,l,l,ylh@eSfVªd

    izek.k&i= ds vuqlkj djuk pkfg,A ;|fi] dsoy vkbVhvkb@,u,lh vgZrk okys mEehnokj bu fooj.kksa dks vkbVhvkb@,u,lh izek.k&i= ds vuqlkj izfof"V dj ldrk gSA

    uke&ifjorZu dh fLFkfr esa mEehnokj dks vkWuykbu vkosnu esa vius ifjofrZr uke dk gh mYys[k djuk pkfg,] ijUrq vU; fooj.k eSfVªd vFkok lerqY; izek.k&i= ls esy gksuk pkfg,A ,sls ifjorZu dh frfFk vFkok ,sls ifjorZu laca/kh vkosnu vkWuykbu iathdj.k dh frfFk ls igys ds gksus pkfg,A ,sls ekeyksa ds fy, ykxw jkti= vf/klwpuk vFkok vU; fof/kd nLrkost] nLrkost lR;kiu ds le; izLrqr fd, tkus pkfg,A

    1-8 lHkh nLrkostksa ij mEehnokjksa ds gLrk{kj HkrhZ izfØ;k ds lHkh pj.kksa esa ,d leku gksus pkfg, vkSj tks

    jfuax gSaM esa vo'; gksa] vkSj tks cM+s v{kjksa esa] vFkok vlac) v{kjksa esa u gksaA lhchVh@ihbVh@Mhoh¼;Fkk ykxw½ ds le; fofHkUu 'kSfy;ksa esa fd, x, gLrk{kj ds ifj.kkeLo:i mEehnokjh jn~n gks ldrh gSA

    1-9 Hkkxhnkj vkjvkjch@vkjvkjlh ds vkf/kdkfjd osclkbV ij Hkh ijh{kk dh frfFk izdkf'kr dh tk,xhA

    blds i'pkr~ lhchVh@ihbVh@Mhoh¼;Fkk ykxw½ ds fy, bZ&dkWy ysVj dks lacaf/kr vkjvkjch@vkjvkjlh ds vkf/kdkfjd osclkbVksa ls gh MkmuyksM fd;k tkuk pkfg,A Mkd }kjk dksbZ dkWy ysVj ugha Hkstk tk,xkA bZ&dkWy ysVj esa fufnZ"V ijh{kk dsUnz] frfFk ,oa ikyh ¼f'k¶V½ vafdr gksaxsA fcuk dksbZ dkj.k crk, vfrfjfDr lhchVh vkSj@vFkok ihbVh] vfrfjDr Mhoh bR;kfn djkus dk vf/kdkj vkjvkjch@vkjvkjlh dks gSA

    1-10 lhb,u esa fufnZ"V fjfDr;ka vufUre gSa vkSj jsy iz'kklu dh okLrfod vko';drkvksa ij fuHkZj djrs gq,

    fdlh mRrjorhZ pj.k esa fo'ks"k leqnk;ksa@inksa@bdkb;ksa esa ;g c

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 6 of 66

    izkIr Jsf.k;ksa ds mEehnokj tks lhchVh esa mifLFkr gq, gSa] dks NksM+dj vU; mEehnokjksa dks 'kqYd ugha ykSVk, tk,axsA 'kqYd esa NwV izkIr Jsf.k;ksa dh tkudkjh ds fy, iSjk 7-0 ns[ksaA

    1-11 in¼ksa½ vkSj@;k jsy¼ksa½@;wfuV¼ksa½ ds fy, izkFkfedrk % pqus x, jsyos esa fofHkUu inksa ds fy, ik=

    mEehnokjksa ds fodYi vkWuykbu vkosnu tek djus ds nkSjku fy, tk,axsA

    HkrhZ izfØ;k ds lHkh pj.kksa ds iwjk gksus ij vkjvkjch@vkjvkjlh dsoy ;ksX; mEehnokjksa ds fodYi ds vuqlkj in vkSj jsyos@;wfuV vkoafVr djsaxs] tks ;ksX;rk] fpfdRlk ekud vkSj fjfDr dh fLFkfr ij fuHkZj djsxkA ,d ckj mEehnokjksa dks mudh ;ksX;rk@ilan ds vuqlkj ukfedkc) dj fy;k x;k gS rks os fdlh vU; [email protected] ij fopkj fd, tkus ds gdnkj ugha gksaxsA vkaf'kd fodYi okys mEehnokjksa dks muds }kjk pqus x, fof'k"V Jsf.k;ksa ds fy, gh ekuk tk,xkA vxj dqN inksa ds fy, dksbZ fodYi ugha fn;k tkrk gS rks ;g mlds fy, mudh vfuPNqdrk ds :i esa ekuk tk,xkA mEehnokjksa }kjk fodYi ugha fn, tkus ij] ;fn iz'kklfud fgr esa vko';d le>k tkrk gks] rks vkjvkjch@vkjvkjlh dks mUgsa in@jsyos@;wfuV vkoafVr djus dk vf/kdkj gS] c'krsZ fd mEehnokj lacaf/kr in dh vko';drk dks iwjk djrs gksaA iSuy esa j[ks x, mEehnokjksa ds 'kkWVZQkWy ;k vU; vfuok;Zrkvksa ds ekeys esa] vkjvkjch@vkjvkjlh dks mEehnokjksa dh ;ksX;rk vkSj fodYi ds vuqlkj] ;fn vko';d gks] rks mEehnokjksa dh vfrfjDr lwph dk mi;ksx djus dk vf/kdkj gSA rFkkfi] ;g fu;qfDr gsrq fopkj fd, tkus ds fy, ,sls mEehnokjksa dks dksbZ Hkh fufgr vf/kdkj ugha nsxkA

    1-12 vkjvkjch@vkjvkjlh }kjk p;u dj fy, tkus ek= ls gh dksbZ mEehnokj jsyos esa ukSdjh izkIr djus

    dk gdnkj ugha curk gSA vkjvkjch@vkjvkjlh dk dk;Z tksuy jsyos ds lacaf/kr izkf/kdkfj;ksa dks mi;qDr mEehnokjksa ds uke vuq'kaflr djuk gS tks cnys esa fjfDr;ksa dh miyC/krk vkSj iwoZoR̀r ,oa pfj= lfgr lHkh ik=rk ekunaM ds iwjk djus ij fu;qfDr i= iznku djrk gSA

    1-13 p;fur mEehnokjksa dks jsyos esa dk;Z xzg.k ds le; ;Fkk ykxw izfrHkwfr rFkk@vFkok {kfriwfrZ ckWaM Hkjuk

    gksxkA 1-14 lkekU;r% fdlh jsy lsod dh fu;qfDr] mlds iw.kZ lsokdky ds nkSjku] ml jsyos vFkok jsyos LFkkiuk esa

    gh jgrh gS] tgka mudh igyh fu;qfDr dh x;h Fkh rFkk mUgsa fdlh vU; jsyos vFkok vU; LFkkiuk esa LFkkukUrj.k dk nkok djus dk vf/kdkj izkIr ugha gksrk gSA rFkkfi lsok dh vfuok;Zrk dh fLFkfr esa l{ke izkf/kdkjh }kjk jsy lsod dks Hkkjr vFkok Hkkjr ls ckgj fdlh ifj;kstuk lfgr fdlh vU; foHkkx vFkok jsyos vFkok jsyos LFkkiuk esa LFkkukUrfjr fd;k tk ldrk gSA

    1-15 vafre :i ls fu;qDr fd, tkus okys p;fur mEehnokj izknsf'kd lsuk dh jsyos bathfu;lZ bdkbZ esa

    lfØ; lsok,a iznku djus ds fy, mRrjnk;h gksaxsA

    1-16 flQZ ,llh@,lVh ds mEehnokjksa dks fu%'kqYd Lyhij Dykl jsyos ikl Lohdk;Z gksxkA ,llh@,lVh mEehnokj] tks ;g eqQ~r ;k=k izkf/kdkj izkIr djuk pkgrs gSa] mUgsa vkWuykbu vkosnu ds le; lacaf/kr dkWye esa ^gkâ Hkjuk gksxkA ,sls mEehnokjksa ds fy, fu%'kqYd Lyhij Dykl jsyos ikl bZ&dkWy ysVj dk Hkkx gksxk tc mUgsa p;u ds fofHkUu pj.kksa ;Fkk lhchVh@ihbVh@Mhoh ¼;Fkk ykxw½ esa Hkkx ysus ds fy, cqyk;k tkrk gSA fu%'kqYd ;k=k izkf/kdkj izkIr djus okys mEehnokj dh ftEesnkjh gS fd os vkWuykbu vkosnu esa jsyos LVs'ku dk lgh uke Hkjsa blds fcuk mudk ;k=k izkf/kdkj ;k=k rFkk vkj{k.k ds fy, ekU; ugha gksxkA

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 7 of 66

    vkj{k.k rFkk ;k=k ds nkSjku] vkj{k.k DydZ rFkk@vFkok fVdV tkap djus okys deZpkjh mEehnokj dh okLrfodrk ds lR;kiu ds fy, muls ,llh@,lVh ds ewy izek.k&i= dh ekax djsaxsA bl ;k=k izkf/kdkj ds nq:i;ksx fd, tkus okys fdlh iz;kl ds ifj.kkeLo:i] mEehnokj dks vkjvkjch@vkjvkjlh }kjk vkxs dh ijh{kkvksa ds fy, izfrcaf/kr fd, tkus ds lkFk gh p;u izfØ;k ds fdlh Hkh Lrj ij mudh mEehnokjh jn~n dj nh tk,xh vkSj mlls tqM+k vU; dkuwuh dkjZokbZ dh tk,xhA

    1-17 आव यकता समझ ेजाने पर तथा लाग ू कए जान ेक ि थित म bl lhb,u के अंतगत भत के िनयम ,oa 'krksZa म कसी कार क अनुवत प रवतन/ संशोधन/ संवधन का समावशे करने का अिधकार vkjvkjch@vkjvkjlh को ह।ै

    1-18 vkjvkjch@vkjvkjlh ारा उ मीदवार क सहमित से उसके ारा vkjvkjch@vkjvkjlh क परी ा म

    ा कए गए अंक को अ य मं ालय / िवभाग / सावजिनक े के उप म तथा िनजी संगठन के साथ, संबंिधत संगठन क भत या के िलए उ ह बताया जा सकता ह।ै उ मीदवार ारा ऑनलाइन आवेदन

    तुत करते समय इस आशय से संबंिधत सहमित अथवा असहमित दी जा सकती ह।ै

    2.0 रि या ँ: 2.1 सीईएन म शािमल िविभ पद के पद iSjkehVj अथात (यो यता, िच क सा मानक और पीड यूबीडी के

    िलए पद क उपयु ता इ या द) अनलु क-d म शािमल ह। 2.2 एससी, एसटी, ओबीसी (नॉन Øhfe लेयर), ईड यूएस, ,Dl-,le] lhlh,, vkSj ihMCY;wchMh ds िलए

    र पद के आर ण सिहत सभी अिधसूिचत पद के िलए jsyos ,oa in&okbt रि याँ अनलु क-[k म शािमल ह ।

    2.3 उ मीदवार कृपया यान द क रेलवे शासन क आव यकता के अनुसार यह रि याँ c

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 8 of 66

    नजदीक क दिृ : एसएन 0.6, 0.6 च मे के साथ अथवा िबना च मे के साथ तथा रंग दृ यता, बायनोकुलर दृ यता, राि दृ यता, मैसोिपक दृ यता इ या द परी ण म अव य उ ीण होना ह ै।

    3 बी-1 शारी रक तौर पर पूणतः व थ

    दरू दिृ : 6/9, 6/12 च म ेके साथ अथवा िबना च म ेके (लस क पावर 4 डी से अिधक न हो)। नजदीक क दिृ : जब पढ़ना तथा नजदीक काय करना अपिे त हो तब एसएन 0.6, 0.6 च म ेके साथ अथवा िबना च म ेके साथ तथा बायनोकुलर दृ यता] jax n`';rk] jkf= n'̀;rk] eSlksfid n'̀;rk vkfn परी ण म अव य उ ीण होना है।

    4 बी-2 शारी रक तौर पर पूणतः व थ

    nwj nf̀"V % 6@9] 6@12 च मे के साथ अथवा िबना च मे के ¼ysalksa ds ikoj 4 Mh ls vf/kd u gks½ fudV दिृ : एसएन 0.6] 0-6 p'es ds lkFk vFkok fcuk p'esa ds lkFk tc i

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 9 of 66

    4.1 उ मीदवार िन िलिखत म से कोई एक होना चािहए :

    क. भारत का नाग रक, अथवा

    ख. नेपाल का मूल िनवासी, अथवा

    ग. भूटान का मूल िनवासी, अथवा

    घ. ित बती शरणाथ , जो भारत म 1 जनवरी, 1962 से पूव भारत म थायी प से िनवास करने क मंशा से आया ह ैअथवा

    ङ. भारतीय मलू का ि जो पा क तान, बमा, ीलंका, पूव अ क दशे के के या, युगांडा, तंजािनया

    गणरा य, मालावी, जाइरे, इथोिपया तथा िवयतनाम से आकर भारत म थायी िनवासी क तरह िनवास कर रहा ह।ै

    च. बशत यह क उपयु (ख), (ग), (घ) तथा (ङ) क ेणी से संबंध उ मीदवारी वाले ि के संबंध म भारत सरकार ारा पा ता माणप जारी कया गया हो।

    4.2 ऐसे उ मीदवार को परी ा म वेश दया जा सकता ह,ै िजसके मामले म पा ता माणप जारी कया

    जाना आव यक हो, तथािप भारत सरकार ारा उ ह आव यक पा ता माणप जारी कए जाने के प ात् ही िनयुि प दया जा सकता ह।ै

    5.0 आय ुसीमा : 18 ls 33 o"kZ

    fjDr rkfydk esa fdlh fo'ks"k in@inksa ds fy, fufnZ"V U;wure vkSj vf/kdre vk;qlhek dh x.kuk 01-07-2019 ds vuqlkj dh tk,xhA

    5.1 uhps lkj.kh esa fuEufyf[kr Jsf.k;ka@leqnk;ksa ds fy, mijh vk;qlhek@vf/kdre Åijh vk;q esa NwV visf{kr izek.k&i=ksa ds izLrqr djus ds v/;/khu ykxw gSA

    . स.ं समदुाय/ णेी ऊपरी आय ुlhek म छूट (या) अिधकतम

    ऊपरी आय ु1 vkschlh&xSj Øhfe ys;j (एनसीएल) 3 वष

    2 ,llh@,lVh 5 वष

    3 पूव सैिनक उ मीदवार, िज ह न ेअनु माणन के प ात् 6 माह से अिधक क सेवा क ह ै

    ;wvkj 33 वष और j{kk¼fMQsal½ म दान क गई सेवा तथा 3 वष

    vkschlh&,ulh,y 36 वष और j{kk¼fMQsal½ म दान क गई सेवा तथा 3 वष

    ,llh@,lVh 38 वष और j{kk¼fMQsal½ म दान क गई सेवा तथा 3 वष

    4 पीड यूबीडी ;wvkj 10 वष

    पीड यूबीडी vkschlh&,ulh,y 13 वष

    पीड यूबीडी ,llh@,lVh 15 वष

    5 वह उ मीदवार जो 1.1.1980 स े31.12.1989 क अविध के दौरान मलूतः ज म ू एव ं क मीर रा य का सामा य िनवासी रहा ह ै

    ;wvkj 38 वष

    vkschlh&,ulh,y 41 वष

    ,llh@,lVh 43 वष

    6 वे उ मीदवार जो रेलवे कमचारी के प म समूह ‘ग’ तथा पूववत समूह

    ;wvkj 40 वष

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 10 of 66

    ‘घ’ म कायरत ह, रेलवे म यूनतम 3 वष क सेवा (िनरंतर अथवा खंिडत भाग म) के साथ आकि मक िमक तथा एवजी का काय कर रह ेह

    vkschlh&,ulh,y 43 वष

    ,llh@,lVh 45 वष

    7 रेलवे सं थान के अध शासिनक कायालय जैसे, रेलव े कटीन कोऑपरे टव सोसाइटी और laLFkkuksa म काम करने वाल ेउ मीदवार

    ;wvkj 33 वष और दान क गई सेवा अविध तथा 5 वष म जो कम हो

    vkschlh&,ulh,y 36 वष और दान क गई सेवा अविध तथा 5 वष म जो कम हो

    ,llh@,lVh 38 वष और दान क गई सेवा अविध तथा 5 वष म जो कम हो

    8 िवधवा, तलाकशुदा या पित से

    याियक प से अलग रहने वाली, ले कन iqufoZokg u करने वाली मिहला उ मीदवार

    ;wvkj 35 वष

    vkschlh&,ulh,y 38 वष

    ,llh@,lVh 40 वष

    9 ftu inksa ds fy, U;wure ;ksX;rk vkbVhvkb@lhlh,, gS] mlds fy, vkosnu djus okys lhlh,,

    ;wvkj 33 o"kZ dh vk;q vkSj vizsafVl ,DV 1961 ds varxZr muds }kjk fd, x, vizsafVl izf'k{k.k lhek tks fd vf/kdre 3 o"kZ gSA

    vkschlh&,ulh,y 36 o"kZ dh vk;q vkSj vizsafVl ,DV 1961 ds varxZr muds }kjk fd, x, vizsafVl izf'k{k.k lhek tks fd vf/kdre 3 o"kZ gSA

    ,llh@,lVh 38 o"kZ dh vk;q vkSj vizsafVl ,DV 1961 ds varxZr muds }kjk fd, x, vizsafVl izf'k{k.k lhek tks fd vf/kdre 3 o"kZ gSA

    10 ftu mEehnokjksa us 25 o"kZ vk;q izkIr djus ls iwoZ vizsafVlf'ki ,DV ds rgr ,DV vizsafVlf'ki izkjaHk fd;k gSA

    ;wvkj 35 वष

    vkschlh&,ulh,y 38 वष

    ,llh@,lVh 40 वष

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 11 of 66

    5.2 उ मीदवार क ज मितिथ नीचे दए गए ितिथय के बीच होगी : (दोन ितिथयाँ िमलाकर):-

    5.3 य द कोई उ मीदवार एक से अिधक आधार पर आयु म छूट के िलए पा ह,ै तो वह अिधकतम आयु म छूट

    ¼xSj⪅h½ ा करेगा, िजसके िलए वह यो य ह।ै 5.4 अनारि त रि य के िलए आवेदन करने वाले ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y¼गैर मी लेयर½

    उ मीदवार के िलए आयु छूट लागू नह होगी।

    5.5 अनारि त रि य के िलए आवेदन करने वाले ihMCY;wchMh उ मीदवार को वही आयु छूट दान क जाएगी, जो अनारि त ihMCY;wchMh उ मीदवार के िलए लागू ह।ै

    5.6 उ मीदवार कृपया यान द क उनके ारा आवदेन के समय दज़ क गई ज म ितिथ वही होनी चािहए, जो muds मै क / एसएसएलसी / दसव अथवा समक माणप म दज़ क गई ह।ै इसम कसी कार के प रवतन के सबंधं म ा अनरुोध पर िवचार नह कया जाएगा।

    6.0 शै िणक यो यताएँ :

    इस lhb,u के अनलु क-क म fufnZ"V पद के िलए, ऑनलाइन iathdj.k djus क अंितम ितिथ तक कसी मा यता ा बोड/ ,ulhohVh@,llhohVh से ा अपेि त यूनतम शै िणक यो यताए ँउ मीदवार के पास होनी चािहए। उन उ मीदवार को आवेदन नह करना चािहए, िजनका िनधा रत यनूतम शै िणक यो यता के िलए अिंतम प रणाम तीि त ह।ै

    uksV % lhlh,,@vkbVhvkb ds cnys esa bathfu;fjax fMIyksek@fMxzh Lohdkj ugha fd, tk,axsA lhlh,, ds cnys esa xzstq,V ,DV vizsafVl Hkh Lohdkj ugha fd, tk,axsA

    7.0 परी ा शु क :

    इस lhb,u esa inksa ds fy, आवेदन करन ेवाले उ मीदवार को uhps nh x;h अपनh Js.kh के अनुसार fu/kkZfjr शु क का भुगतान करना gS :-

    Ø- la- आय ु

    वग ज मितिथ क ऊपरी सीमा

    (इसस ेपवू नह )

    ज मितिथ क िनचली सीमा (इसस ेप ात ्

    नह )

    fVIif.k;ka

    1

    18 से 33

    ;wvkj vkschlh&,ulh,y ,llh@,lVh lHkh leqnk;ksa@ Jsf.k;ksa ds

    fy,

    iSjk 5-1 ij rkfydk esa fn, x, leqnk;[email protected];ksa

    ls lacaf/kr mEehnokj ;Fkkykxw] vk;q esa NwV ds

    fy, ik= gksaxsA uksV % bl rkfydk esa fn, x, ,llh@ ,lVh ,oa vkschlh& ,ulh,y ds fy, tUefrfFk dh lhek esa leqnk; dks vk;q esa NwV 'kkfey gSA

    02.07.1986 02.07.1983 02.07.1981 01.07.2001

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 12 of 66

    .

    स.ं उ मीदवार dh Jsf.k;ka शु क

    1 नीचे म सं या 2 म उि लिखत छूट ा Js.kh के अलावा अ य सभी Js.kh ds mEehnokjksa वग के िलए

    lhchVh esa सि मिलत होने पर शु क . 500/- म से .400/- क रािश पर लागू बक भार काटकर शषे रािश क वापसी ;Fkkle; क जाएगी ।

    . 500/-

    2 ihMCY;wchMh@efgyk,a@VªkaltsaMj@पवू सैिनक mEehnokjksa ,oa ,llh@,lVh@ vYil[a;d@आ थक प से िपछड़ा वग ls lacaf/kr mEehnokjksa के िलए।

    * lhchVh esa सि मिलत होन ेपर शु क . 250/- म ;Fkkykxw बक भार काटकर शेष रािश क वापसी ;Fkkle; क जाएगी ।

    . 250/-*

    7.1 शु क के भगुतान dh fof/k :

    क. baVjusV cSafdax vFkok डिेबट/ े िडट काड vFkok ;wihvkbZ ds ek/;e ls ऑनलाइन 'kqYd dk भुगतान। ख. fuEukafdr मा यम से शु क का ऑफलाइन भुगतान :-

    i. भारतीय टेट बक क कसी भी शाखा म एसबीआई बक चालान भुगतान।

    ii. कसी भी कं यूटरीकृत डाक घर म Mkd?kj चालान भुगतान।

    7.2 शु क भगुतान क अंितम ितिथ एव ंसमय :

    ऐसे उ मीदवार, जो दनांक 12.04.2019 के 23.59 बजे तक पंजीकरण कए ह, उ ह ऑफलाइन भुगतान दनांक 18.04.2019 के 13.00 बजे तक तथा ऑनलाइन भुगतान दनांक 23.04.2019 के 23.59 बज े

    तक करने क अनुमित ह।ै भुगतान के प ात्, bu mEehnokjksa dks 26.04.2019 के 23.59 बजे तक या उससे पहले अपने dEIyhV आवेदन जमा¼lcfeV½ कर nsuk pkfg,A

    उ मीदवार ारा शु क भुगतान के fy, येक लागू सेवा भार का वहन कया जाएगा। शु क का भुगतान उपयु ानुसार ऑफलाइन िविध अथात पैरा 7.1 (ख) (i) एवं (ii) के अनुसार कए जाने क ि थित म रसीद संभालकर रखी जानी चािहए। यह रसीद द तावेज़ स यापन के दौरान माँगे जाने पर तुत क जानी चािहए।

    7.3 इस lhb,u gsrq vkWuykbu vkosnu iathdj.k dh अंितम ितिथ तक कसी कार का संशोधन/ िवलोपन/ संवधन ा न होने क शत पर अ पसं यक म मुि लम, ईसाई, िसख, बौ , जैन तथा जोराि यन (पारसी) शािमल होग।

    परी ा शु क म छूट का दावा करने वाले अ पसं यक उ मीदवार को द तावेज़ स यापन के दौरान गरै याियक टा प पपेर पर ‘अ पसं यक समुदाय घोषणा’ करत े ए यह उ लेख करना होगा क वे उपयु म

    से कसी अ पसं यक समुदाय से संब ह तथा ऐसा न कए जाने क ि थित म उनक उ मीदवारी र कर दी जाएगी।

    7.4 आ थक प से िपछड़ा वग (ईबीसी) के उ मीदवार वे होते ह, िजनक वा षक पा रवा रक आय . 50,000/- पए से कम हो। ऐसे उ मीदवार के पास vkosnuksa ds vkWuykbu iathdj.k dh vafre ितिथ को िनधा रत ा प म जारी करने वाल े ािधकारी के प शीष (लेटर हडे) पर जारी वैध आय माणप

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 13 of 66

    होना चािहए और ऐस े माणप द तावेज़ स यापन के समय तुत कए जान ेचािहए। जमा नह करने पर उनक उ मीदवारी र कर दी जाएगी । बीपीएल काड तथा इ ज़त एमएसटी धारक उ मीदवार भी आ थक

    प से िपछड़ा वग के अंतगत शु क म रयायत पाने के पा ह गे। शु क म रयायत का दावा करने वाले ऐस ेसभी उ मीदवार को ऑनलाइन आवेदन करते समय visf{kr माणप / काड सं या, जारी ितिथ, जारीकता ािधकारी, थान तथा जारीकता रा य ls संबंिधत जानकारी भरनी चािहए।

    7.5 lhchVh म शािमल होने वाल ेउ मीदवार को ऑनलाइन भुगतान (डिेबट काड, े िडट काड, नेट ब कग और यूपीआई) के मामले म इस बात क पुि करनी चािहए क या वे परी ा शु क का वापसी यो य िह सा ( .400/- या . 250/- जैसा लाग ूहो) उसी खाते म ा करना चाहते ह, िजस खाते से उ ह ने भुगतान कया ह ैया वे वैकि पक प से लाभाथ का खाता दान करत ेह, िजसम वे धनवापसी ा करना चाहते

    ह, िजसके संबंध म उ ह ने लाभाथ का नाम, बक का नाम, खाता सं या और आईएफएससी कोड दान कया ह।ै परी ा शु क का वापसी यो य िह सा, लागू बक शु क क िविधवत कटौती के प ात् वापस कया

    जाएगा। िजन उ मीदवार न ेएसबीआई चालान या पो ट ऑ फस चालान मोड के मा यम से भुगतान कया ह,ै उ ह लाभाथ खाते का िववरण अथात लाभाथ का नाम, बक का नाम, खाता सं या और आईएफएससी कोड दान करना चािहए, िजसम वे धनवापसी ा करना चाहते ह। सही बक खाता िववरण तुत करन ेक िज मेदारी उ मीदवार क ह ैऔर vkjvkjch@vkjvkjlh इस संबंध म उ मीदवार से कोई प ाचार नह करेगा।

    7.6 िजन उ मीदवार का आवदेन अधरूा ह ैया िज ह न ेअपना आवदेन जमा नह कया ह ैया िजनके आवदेन को

    अ वीकार कर दया गया ह,ै उनके ारा भगुतान कया गया परी ा शु क वापस नह कया जाएगा।

    8.0 ऊ वाधर (व टकल) आर ण : 8.1 इस lhb,u म अनुसूिचत जाित (अजा), अनुसूिचत जनजाित (अजजा), अ य िपछड़ा वग (अिपव) – गरै

    मी लेयर (एनसीएल) तथा आ थक प से कमज़ोर वग (ईड यूएस) के संबंध म यथा लागू एवं वीकाय तथा orZeku िनयम के तहत माँगकता रेलव@ेmRiknu bdkb;ksa ारा दी गई सूचना, रि तािलका म कए गए उ लेख के अनुसार ऊ वाधर (व टकल) आर ण क व था क गई ह।ै

    8.2 कसी भी समुदाय के सभी उ मीदवार, ;wvkj उ मीदवार के मापदडं को पूरा कए जाने क शत पर ;wvkj रि य के िलए िवचारणीय ह गे। तथािप, िविश समुदाय ¼,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y/ईड यूएस½ के िलए िन द रि य के िलए केवल संब समुदाय के उ मीदवार ij ही िवचार कया जाएगा।

    8.3 आर ण ा करने के िलए ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y उ मीदवार को द तावेज़ स यापन के समय अनलु क-I (,llh@,lVh के िलए) तथा अनलु क-II (vkschlh&,ulh,y) म दए गए ा प के अनुसार स म ािधका रय }kjk tkjh जाित माणप तुत करना चािहए। vkschlh&,ulh,y उ मीदवार को िवशेष प से यह उ लेख करना होगा क वे भारत सरकार, का मक एव ं िश ण िवभाग के दनांक 08.09.1993 के कायालय ापन सं या 36012/22/93- थापना (एससीटी) क अनुसूची के कॉलम 3 तथा दनाकं 09.03.2004, 27.05.2013, 13.09.2017 के कायालय ापन सं या 36033/3/2004- थापना (आरईएस) एवं इस lhb,u ds fy, ऑनलाइन आवेदन iathdj.k क अंितम ितिथ तक ा आगामी संशोधन , य द कोई हो, म उि लिखत ि य / वग ¼dzhfeys;j½ से lacaf/kr नह ह। उ मीदवार को इस lhb,u gsrq आवेदन तुत करते समय ;g lqfuf'pr dj ysuk pkfg, fd os vkschlh&,ulh,y से lacaf/kr gSaA ऐसे उ मीदवार को द तावेज़ स यापन के समय िनधा रत ा प म vkschlh का वैध माणप तुत करना होगा।leqnk; izek.ki= ¼vkschlh½ ds vfrfjDr] द तावेज़

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 14 of 66

    स यापन के दौरान, mEehnokjksa dks अनलु क IId ds vuqlkj fu/kkZfjr izi= esa ,d ?kks"k.kk izLrqr djuh gksxh fd वे dzhfeys;j ds varxZr ugha vkrs gSaA तुत कया जान ेवाला माणप , द तावेज़ स यापन के समय एक वष से अिधक पुराना नह होना चािहए। ऐसा न कए जाने क ि थित म आर ण ि थित (vkschlh&,ulh,y) से संबिंधत उनके दावे पर िवचार नह कया जाएगा तथा ऐसे उ मीदवार के आवेदन/उ मीदवारी केवल सामा य (अनारि त) ेणी क पा ता शत के अनु प सामा य (;wvkj) रि य के िलए िवचारणीय होगी।

    8.4 ईड यएूस (आ थक प स ेकमजोर वग) आर ण :

    वे उ मीदवार जो ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y आर ण योजना के अ तगत नह आते और िजनक पा रवा रक सकल वा षक आय :- 8 लाख (आठ लाख पए) से कम ह,ै उनक पहचान ईड यूएस का आर ण का लाभ nsus ds fy, ईड यूएस के प म क tkuh gSA आय म आवेदन कए गए वष से पहले के िव ीय वष म सभी ोत , यानी वतेन, कृिष, वसाय, पेश े आ द से ई आय भी शािमल होगी। bl lhb,u la- vkjvkjlh&01@2019 ds fy,] foRr o"kZ 2018&19 gksxk D;ksafd iathdj.k dh vafre frfFk 12-04-2019 gSA साथ ही, उन उ मीदवार क पहचान ईड यूएस के प म नह क जाएगी िजनके प रवार के पास िन िलिखत म से कोई भी संपि होगी, चाह ेउनका पा रवा रक आय कुछ भी हो :

    i. 5 एकड़ या उससे अिधक कृिष भूिम ;

    ii. 1000 वग फ ट या उससे अिधक का आवासीय लैट ;

    iii. अिधसूिचत नगरपािलका म 100 वग गज और उससे अिधक का आवासीय भूखडं ;

    iv. अिधसूिचत नगरपािलका के अलावा अ य े म 200 वग गज और उससे अिधक का आवासीय भूखंड।

    ईड यूएस का दजा िनधा रत करने के िलए भूिम या सपंि हो डग टे ट करते समय अलग-अलग थान या िभ -िभ न जगह / शहर म एक "प रवार" ारा अ जत क गई संपि को एक साथ संयोिजत कया जाए। उ त उ े य के िलए श द "प रवार" म शािमल ह गे - आर ण क माँग करन ेवाला यि , उसके माता-

    िपता और 18 वष से कम आयु के उसके भाई-बहन और इसके साथ - साथ उसके पित / प ी और 18 वष स ेकम आयु के cPps । स म ािधकारी ारा जारी आय एवं संपि माण प तुत करने पर ही ईड यूएस के तहत आर ण का लाभ िलया जा सकता ह।ै ईड यूएस म होने के उ मीदवार के दाव ेके प म केवल अनलु क III म दए गए िनधा रत ा प म िन िलिखत म से कसी भी एक ािधकारी ारा जारी आय एव ं ifjlaifRr

    माणप को ही वीकार कया जाएगा: क) िजला मिज ेट / अित र िजला मािज ेट @lekgRrkZ / उपायु / अित र उपायु / थम

    ेणी टाइपडरी मिज ेट / उप भागीय मिज ेट / तालुका मिज ेट / कायकारी मािज ेट / अित र सहायक आयु ।

    ख) मु य ेसीडसी मिज ेट / अित र मु य ेसीडसी मिज ेट / ेसीडसी मिज ेट । ग) राज व अिधकारी जो तहसीलदार के पद से नीचे के न ह तथा घ) उस {ks= ds vuqeaMy vf/kdkjh, जहां उ मीदवार और या उनका प रवार सामा य प से jgrs gksaA

    ईड यूएस के िलए आरि त रि य के िलए आवेदन करन ेवाले mEehnokjksa dks nLrkost lR;kiu dh frfFk dks vuqyXud&AAA ds vuqlkj l{ke izkf/kdkjh }kjk fuxZr oS/k vk; ,oa ifjlaifRr izek.k&i=

    izLrqr djuk gksxkA इन शत के अनुपालन न करने क ि थित म, ईड यूएस के तहत आरि त ि थित के िलए उनके दावे पर िवचार नह कया जाएगा और ऐस ेउ मीदवार क उ मीदवारी / आवेदन पर केवल

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 15 of 66

    सामा य (अनारि त) रि य के तहत ही िवचार कया जाएगा बशत क वे सामा य (अनारि त) ेणी के िलए सभी पा ता शत को पूरा करते ह ।

    8.5 ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y@bMCY;w,l से संबंिधत उ मीदवार अपेि त U;wure शै िणक यो यता पूण होने क ि थित म ;wvkj रि य के fy, भी आवेदन तुत कर सकते ह । तथािप उ ह ;wvkj उ मीदवार के साथ ित पधा करनी होगी । ;wvkj रि य के fy, आवेदन करते समय, उ ह ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y के िलए लागू आय ुसीमा esa कोई भी छूट नह दी जाएगी, फर भी ऐस ेउ मीदवार को अपने आवेदन म अपने वा तिवक समुदाय का उ लेख करना चािहए ।

    8.6 bl lhb,u gsrq vkWuykbu vkosnu iathdj.k dh vafre frfFk dks समुदाय/ईड यूएस ि थित ds laca/k esa fopkj dsoy आर ण लाभ izkIr djus ds fy, fd;k जाएगा तथा उ मीदवार के समुदाय/ईड यूएस ि थित म कसी कार का प रवतन होने से उस पर िवचार नह कया जाएगा।

    9.0 िैतज ¼gksfjtsaVy½ आर ण :

    9.1 इस lhb,u म कसी भी समुदाय के पवू सैिनक ] jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr lhlh,, ,oa द ागं ि य (पीड यूबीडी) के संबधं म ैितज ¼gksfjtsaVy½ आर ण dk izko/kku gSA

    9.2 पूव सैिनक ] jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr lhlh,, ,oa ihMCY;wchMh के संबंध म जहाँ कह भी रि तािलका म रि य स ेसंबंिधत सचूना दशाई गई ह,ै वह अलग नह ह ैतथा रि य क कुल सं या म शािमल क गई ह।ै

    9.3 जहाँ कह भी पीड यूबीडी के िलए रि याँ अलग-अलग समुदायवार आवंटन के िबना दखाई जाती ह, व ेरि याँ अलग ह और िनयिमत रि य का िह सा नह ह।

    9.4 पूव सैिनक उ मीदवार भी ऐसे िनयिमत पद (पद ) के िलए आवेदन तुत कर सकते ह, जो पूव सैिनक के िलए िनधा रत नह ह। ऐस ेपद के िलए भी वे आयु म तथा शु क म छूट ा करने के पा ह गे जसैा क पूव सैिनक के िलए िनधा रत ह ै।

    9.5 ihMCY;wchMh mEehnokj भी ऐसे िनयिमत पद (पद ) के िलए आवेदन तुत कर सकते ह, जो ihMCY;wchMh ि य के िलए िनधा रत नह ह, परंतु पद उनक ihMCY;wchMh के दिृ कोण से अव य उपयु होना

    चािहए। ऐसे पद के िलए भी वे आयु म तथा शु क म छूट ा करने के पा ह ग ेजैसा क द ांग के िलए िनधा रत ह ै।

    9.6 fu;fer ihMCY;wchMh fjfDr;ka य द उनके प म आरि त पद को अ मता ेणी के तहत उपयु उ मीदवार क गैर उपल धता के कारण या कोई अ य उपयु कारण से नह Hkjh xbZ, तो ऐसी रि य को नह भरा जाएगा और बकैलॉग रि याँ के तहत उ ह अगले भत या के िलए आगे बढ़ाया जाएगा। य िप क ीकृत सूचना म बताए बैक लॉग रि य के तहत सूिचत पद के िलए िनधा रत अ मता वाल ेउ मीदवार न िमलने पर उपयु पद के िलए अ य अ मता वाले उ मीदवार ारा उन पद को भरा जाएगा िजन के िलए उपयु ह ै। कोई द ांग उ मीदवार क गरै उपल धता के मामले म िजनके िलए पद उपयु ह ैउन पद को मै रट के अनसुार िनयिमत उ मीदवार (tks ihMCY;wchMh) ारा भरा जाएगा।

    9.7 jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr lhlh,, mEehnokj fdUgha inksa dh fjfDr;ksa ds fy, Hkh vkosnu dj ldrs gSa tks lhlh,, fjfDr;ksa ds fy, vyx ls fu/kkZfjr ugha gSA bu inksa ds fy, Hkh os vk;q esa NwV ds ik= gSaA

    10.0 पवू सिैनक : 10.1 पूव सैिनक से वह ि अिभ ेत ह,ै िजसने कसी भी रक (यु शील अथवा गैर यु शील) पर भारत संघ के

    िनयिमत थल, जल अथवा वायु बल म सेवा क ह,ै परंतु इनम वे ि शािमल नह ह ग,े िज ह न ेर ा

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 16 of 66

    सुर ा okfguh, सामा य आरि त इंजीिनय रग बल, लोक सहायक सनेा तथा अ सैिनक बल म सेवा क ह।ै तथा

    क. वह ि जो वयं अपने अनुरोध पर अथवा अपनी पशन अ जत करने के प ात् िनयो ा ारा काय मु , सेवा से सेवािनवृ अथवा सेवा मु अथवा काय मु आ ह,ै (अथवा)

    ख. ऐसा ि जो सै य सेवा से जुड़ी अथवा अपने िनयं ण से बाहर क प रि थित के कारण िच क सा आधार पर कायमु कया गया ह ैतथा िजसे िच क सा अथवा अ य अ मता पशन दान क जा रही ह,ै (अथवा)

    ग. जो ऐसी सेवा से थापना म क गई कटौती के प रणाम व प कायमु कर दया दया गया ह,ै (अथवा) घ. जो ऐसी सेवा म अपनी सेवा क िविन द अविध परूी होने पर या जो उसके अनुरोध पर अथवा

    बख़ा तगी ारा अथवा कदाचार अथवा काय अ मता के कारण कायमु कर दया गया ह ै तथा उस ेे युटी दान कया गया ह,ै तथा िजसम ादिेशक सेना अथात ्अनवरत सि मिलत सेवा अथवा यो य

    सेवा का खंिडत भाग सि मिलत ह;ै (अथवा) ड. सेना डाक सेवा के का मक, जो िनयिमत सेना के भाग ह तथा जो सेना डाक सेवा से पशन के साथ अपनी

    मूल सेवा म पदावनित के साथ सेवािनवृ नह कए गए ह अथवा जो सनेा डाक सेवा से सै य सेवा से जुड़ ेअथवा उ प िच क सा कारण अथवा ऐसी प रि थितय के कारण कायमु कए गए ह, जो उनके िनयं ण से परे ह तथा िज ह िच क सा एव ंअ य अ मता पशन दी गई ह;ै (अथवा)

    च. वे का मक, जो सनेा डाक सेवा म दनांक 14 vizSy] 1987 स ेपूव छह माह से अिधक अविध के िलए ितिनयुि पर थ;े (अथवा)

    छ. ादिेशक सेना के का मक सिहत सश बल म वीरता परु कार ा करने वाल;े (अथवा) ज. िच क सा आधार पर सेवा से बाहर अथवा मु कए गए पूव-रंग ट, िज ह दनांक 01.02.2006 स े

    िच क सा अ मता पशन दान क गई ह।ै 10.2 संघ के सश बलो म सेवा करने वाले तथा सेवािनवृि के प ात् पूव सैिनक क ेणी म आने वाले ि

    अपने सेवा क िविश अविध को पूरा करने से एक वष पूव पुनः रोज़गार के िलए आवेदन करने के पा ह ग ेतथा उ ह पूव सैिनक को दी जाने वाली सभी रयायत दान क जा सकगी, परंतु ऐसे ि को अपने पद का याग तब तक नह करना होगा जब तक क वे संघ के सश बल म अपनी सेवा क िविश अविध को पूण न कर ल।

    तदनुसार, ऐसे सेवारत सरु ा कम , जो bl lhb,u gsrq ऑनलाइन vkosnu पंजीकरण क अंितम ितिथ ( दनांक 12.04.2020 या उससे पवू) के एक वष के अंदर सेवामु होने वाले ह, वे भी पूव सैिनक के िलए िनधा रत पद तथा अनारि त पद के िलए आवेदन कर सकते ह, तथािप ऐसे उ मीदवार के पास lhb,u gsrq ऑनलाइन vkosnu पंजीकरण dh अंितम ितिथ अथात दनांक 12.04.2019 को िनधा रत शै िणक यो यता होनी चािहए।

    10.3 ऐसे पूव सैिनक उ मीदवार, जो क सरकार के समूह 'ग' तथा 'घ' म पूव सैिनक का लाभ ले कर असैिनक रोज़गार पहले ही ा कर िलए ह (पीएसयू, वाय िनकाय/ सांिविधक िनकाय/ रा ीकृत बक आ द) को केवल क सरकार के अंतगत ग/ घ के उ ेड अथवा कैडर म असैिनक रोज़गार ा करने के िलए पवू सैिनक के िलए िनधा रत आयु छूट के लाभ ही दान कए जाएगँे। ऐसे उ मदीवार क सरकार क नौक रय म पूव सैिनक के िलए आरि त रि य के िलए िवचारणीय नह ह गे।

    10.4 य द कोई पूव सैिनक कसी असैिनक रोज़गार के िलए कायभार ा करन ेसे पूव िविभ रि य के िव आवेदन करता ह,ै तो उसे कसी भी अनुवत रोज़गार के िलए पवू सैिनक के लाभ दान कए जाएगँ,े परंत ुऐसे पूव सैिनक को असैिनक रोज़गार म कायभार हण करने पर अपने संबंिधत िनयो ा के स मुख इस lhb,u के अंतगत दए गए आवेदन के साथ अनेक रि य के िलए आवेदन के िववरण के संबध म घोषणा/ वचन प तुत करना होगा। असैिनक िनयो ा से ा अनापि माणप (एनओसी) सिहत ऐसी घोषणा क पावती द तावेज़ स यापन के समय तुत क जानी चािहए तथा ऐसा न कए जाने ij पूव

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 17 of 66

    सैिनक के िलए िनधा रत आर ण का लाभ ा नह कर सकगे । इसके अलावा ये लाभ केवल सीधी भत स ेभरी जाने वाली रि य एव ंउन रि य के िलए लागू ह ग,े िजनम पूव सैिनक के िलए आर ण लागू ह।ै

    10.5 पूव सैिनक से संबिंधत िच क सा मानक, भारतीय रेल िच क सा fu;ekoyh (आईआरएमएम) के खंड-I के

    पैरा 534 के अनसुार ह ग,े जो www.indianrailways.gov.in पर दखेे जा सकते ह।

    11.0 बचमाक द ागं ि (पीड यबूीडी) : 11.1 पीड यूबीडी उ मीदवार के िलए पद के िलए उपयु ता अथवा अनुपयु ता येक पद के सामने mi

    द ांगता िववरण सिहत ‘बचमाक द ागं ि के िलए उपयु ता' कॉलम के अंतगत, पद मापदडं सारणी (अनलु क-d) म दशाए गए ह।

    csapekdZ fnO;kax O;fDr :- द ांग ि य के अिधकार के अिधिनयम, 2016 ¼vkjihMCY;wchMh½ के

    अनुसार ( दनांक 19.04.2017 स ेलाग)ू मानक द ांगता िन नसुार ह :-

    (क) ने हीन और पूण दृ यता न होना ;

    (ख) बिधर और कम सुनाई दनेा ; (ग) गित अ मता िजसम मि त क प ाघात (से र ल पा सी), कु रोग से व थ ए, बौनापन, ऐसीड

    फके जान ेसे पीिड़त और मासंपेशीय दु वकास शािमल ह ;

    (घ) वलीनता, बौि क अ मता, िवशेष सीखने क अ मता और मानिसक अ व थता ; (ड.) यके अ मता के िलए िनि त पद हतेु बिधर-ने हीन सिहत खडं (क) से (घ) के अंतगत आन े

    वाले ि य म से ब अ मताए।ँ

    vkjihMCY;wchMh अिधिनयम, 2016 क अनुसूची म िविन द द ांगता क प रभाषा िन ानुसार ह:ै-

    11.2 िविन द द ागं O;fDr;ksa क प रभाषा :-

    1. शारी रक fu'kDrrk :-

    (क) गित fu'kDrrk ( वयं को और व तु को गित दान करने से संबिंधत िविश या को कर सकन ेम dksbZ O;fDr fu'kDr gS, िजसके कारण शरीर के अगं का संचालन ितबंिधत हो अथवा मि त क प ाघात क ि थित हो या दोन ह ), िजसम :-

    (क) ''कु रोग से व थ ि '' - अथात जो कु रोग से व थ आ ह,ै परंतु िन िलिखत से पीिड़त ह ै

    :-

    (i) िबना कसी प िवकृित के हाथ एवं परै म चेतना क कमी के साथ आँख और पलक म प ाघात

    ;

    (ii) प िवकृित और प ाघात, परंत ु उनके हाथ और पैर म पया गितशीलता, िजससे सामा य

    गितिविध करने म यो य ह ;

    (iii) अ यंत शारी रक िवकृित के साथ बढ़ती आय,ु जो उ ह कसी लाभदायक वसाय लनेे से रोके और

    “कु रोग से व थ” होने के अनुसार भत कया जाए।

    (ख) “ मि तक प ाघात (से र ल पा सी)” का अथ, कसी ि का ज म पवू, नवजात अव था अथवा शैशव काल के िवकास के दौरान मि त क दोष अथवा चोट के प रणाम व प उ प असामा य मोटर कं ोल मु ा के कारण उ प गैर िवकासशील अव था के प म कया जा सकता ह।ै

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 18 of 66

    (ग) ''बौनापन''- अथात िच क सा या जनेे टक ि थित ह,ै प रणाम व प क क ऊँचाई 4 फ ट 10

    च (147 सटीमीटर) या कम होती ह ै;

    (घ) “मांसपेशीय दु वकास'' - अथात वंशानुगत अनुवांिशक मांशपेशी बीमारी का समहू ह,ै जो मानव शरीर के मांशपशेी को कमजोर करता ह ैऔर ि य म ब दु वकास के साथ जीन म गलत और कम जानकारी रहती ह,ै जो जीन म व थ मांसपेशी के िलए आव यक ोटीन बनाने से रोकती ह।ै अि थ-पजंर संबंधी मांसपशेी क कमजोरी को बढ़ाना, मांसपेशी ोटीन मे कमी और कोिशका और ऊतक क मृ य ुइसके ल ण ह।

    (ड.) ''एिसड हमले का िशकार'' – अथात एिसड या उसी कार के सं ारक व तु फके जाने के हसक हमले के कारण से िवकृत ि ह।ै

    ख) दिृ ीणता – (क) दिृ हीनता का अथ उस ि थित से ह,ै िजसम सबसे अ छे सुधार के बाद कसी ि क ि थित िन म से ह-ै

    (i) दृ यता का परूी तरह से अभाव ; या

    (ii) बेहतर आँख क दृ यता उिचत लस के साथ 3/60 अथवा 10/200 ( ेलन) से कम हो; या

    (iii) दृ यता के े क सीमा का िव तार 10 िड ी या इससे कम कोण पर होना।

    (ख) “कम दृ यता” का अथ उस ि थित से ह,ै जहा ँ ि क ि थित िन ानुसार होती ह ै:-

    (i) बेहतर आँख क दृ यता, उिचत लस के साथ 6/18 अथवा 20/60 से 3/60 तक या 10/200 ेलन स े

    अिधक न हो ; या

    (ii) दृ यता के े क सीमा का िव तार 40 िड ी स े10 िड ी कोण तक कम होना।

    (ग) वण ित—

    (क) “बिधर” का अथ ह,ै वह ि िजसके दोन कान क वाक् आवृि म 70 डीबी बहरापन ह।ै

    (ख) ‘कम सुनना’ अथात वह ि िजसके दोन कान क वाक् आवृि म 60 डीबी से 70 डीबी बहरापन ह।ै (घ) (1) ‘वाक् और भाषा अ मता’ का अथ एक थायी अ मता ह,ै िजसम गला संबंधी (लायनजे टोमी) या वरलोप जसैी ि थित उ प होती ह,ै जो क जैिवक या ायिवक कारण स ेवाक् एवं भाषा के एक या एक से अिधक घटक को भािवत करती ह।ै

    (2) बौि क fu'kDrrk का अथ उस ि थित से ह,ै िजसम बौि क कामकाज (तक, सीखने, सम या सुलझाने) और अनुकुल वहार, िजसम ित दन के कामकाज म सामािजक व वहा रक कुशलता शािमल ह,ै दोन म ही मह वपूण कमी के ल ण दखते ह।

    (क) “िविश सीखने क अ मता’ अथात िवषम प रि थितय का वह समूह िजसम भाषा बोलने, पढ़ने, िलखने, वतनी म या गिणत गणना करने म क ठनाई होती ह ैऔर िजसम अवधारणा मक अ मता, वाक् िवकार, िड ा फया, िड के कुिलया, दिु या और िवकासा मक वरलोप इ या द जैसी ि थितयाँ शािमल होती ह।

    (ख) “ वलीनता िव तार िवकार (ऑ ट म पे म िडस्ऑडर)” अथात ायु िवकासा मक ि थित ह,ै जो जीवन के पहले तीन वष म दखाई दतेी ह,ै जो ि क संवाद मता, र त को समझने और दसूरे स ेसंबंध बनाने क मता को काफ भािवत करती ह ैऔर यह हमेशा असामा य या ढ़ब सं कार या

    वहार के साथ जुड़ा होता ह।ै

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 19 of 66

    (3) मानिसक वहार --

    “मानिसक बीमारी” का अथ ह ैसोच, मनोदशा, धारणा, झुकाव या मरण शि म पया िवकार, िजसम िनणय मता अित भािवत रहती ह,ै िजसके कारण वहार, वा तिवकता को पहचानने क मता या जीवन क सामा य मागँ को पूरा करने क मता भािवत रहती ह,ै परंतु िजसम मंदता शािमल नह होता ह,ै जो कसी ि के दमाग का अधूरा िवकास या अव होने क ि थित ह,ै िजसका िवशषे ल ण बुि द क उप सामा यता ह।ै

    (4) अ मता िन के कारण आ –

    क) पुरानी ायिवक ि थित, जैसे-

    i) "ब का ठ य (म टीपल लेरोिसस) " मतलब सजूनयु तंि का तं रोग, िजसम दमाग़ के तंि का कोिशका के अ तंतु के चार ओर फैले ए माइिलन आवरण तथा रीढ़ क हि य को नुकसान प चँता ह,ै िजसके कारण माइिलन रिहत तथा दमाग़ के तंि का ऊतक और रीढ़ क हि य के एक दसूरे से संपक करने क मता पर भाव पड़ने वाली ि थित बनती ह;ै

    ii) " पा कसंस रोग" का ता पय तंि का तं के एक ऐसी गितशील बीमारी स ेह,ै िजसके ल ण कंपन, मांसपेिशय का अकड़ जाना, धीमी और अिनि त गित ह, जो अधेड़ उ तथा बूढ़े लोग को यादा

    भािवत करती ह,ै िजसम दमाग़ के बेसल गि लया क अवनित तथा यूरो ांसमीटर डोपामाइन क कमी होती ह।ै

    ख) र िवकार –

    i) "हीमोफ िलया" एक अंत निहत बीमारी ह,ै जो सामा यतया पु ष म होती ह,ै कत ुमिहला से उनके पु को सं ेिषत हो जाती ह,ै िजसम ख़नू के थ े बनने क मता म कमी या नुकसान होता ह,ै िजससे ब म घातक र ाव होने लगता ह ै;

    ii) "थैलेसीिमया" एक ऐसी अतं निहत रोग ह,ै िजसम हीमो लोिबन क कमी या अनपुि थित के ल ण पाए जाते ह।

    iii) "िसकल सेल रोग" एक र लायी िवकार ह,ै िजसम ऊतक तथा अवयव को नुकसान प चँने के कारण

    ोिनक एनीिमया, दद तथा कई तरह क क ठनाइयाँ उ प होती ह, “हमेोिल टक” बीमारी म लाल र कोिशका के कोिशका िझ ली को ित प चँने के कारण हीमो लोिबन का िन तार होता ह।ै

    (5) ब fu'kDrrk,a (िजसम ऊपर बताई ग िवशषे fu'kDrrk म एक से अिधक ह ) बिधर, अंधापन सिहत, ऐसी ि थित, िजसम ि को सुनने तथा दखेने संबंधी कमजोरी हो, िजसके कारण संपक, िवकास तथा िश ा संबंधी गंभीर सम याए ँहोती ह।

    (6) अ य कोई को ट, जो क सरकार ारा अिधसूिचत क गई हो।

    11.3 आर ण के िलए बचमाक fu'kDrrk क िड ी तथा fu'kDrrk माणप जारी करन े के िलए स म ािधकारी : केवल वही ि अपने संबिंधत समुदाय म सेवा / पद के संबंध म छूट ा करने के पा

    ह ग,े िजनक संबंिधत अ मता का ितशत 40% स े कम नह ह।ै छूट और/ या आर ण ा करने के इ छुक ि को दनांक 15.06.2017 के vkjihMCY;wMh fu;ekoyh, 2017 के अ याय 7 के अतंगत िनयम 18 (1) के फाम V, VI और VII के अनसुार द तावेज़ स यापन के समय अ मता माणप तुत

    करना होगा। संशोिधत ा प के िलए अनलु क V(ए), अनलु क V(बी) और अनलु क V(सी) को दखे।

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 20 of 66

    अ मता के अिधकार के अिधिनयम 1995 ¼fujLr½ के अंतगत जारी वतमान अ मता माणप , उसम िविन द अविध के िलए वैध होगा।

    11.4 ाइब क enn : ऐसे द ांग उ मीदवार िजनक लखेन क गित मि त क प ाघात के कारण भािवत ह/ै एक हाथ वाल ेउ मीदवार/ मांसपेिशय क कमजोरी वाले उ मीदवार अपनी ओर से उ र िलखने के िलए ाइब क सहायता ा कर सकते ह। ाइब क सहायता ा करने के िलए उ मीदवार को इससे संबंिधत उ लेख ऑनलाइन फाम म करना चािहए।

    ाइब क सेवाए ँिन िलिखत शत पर ा क जा सकती ह ै:-

    उ मीदवार को अपने िलए ाइब क व था वयं करनी होगी।

    क) िजस lhb,u के िलए उ मीदवार ारा ाइब क सहायता ा क गई ह ैउस अिधसचूना के अतंगत ाइब वय ंउ मीदवार नह होना चािहए। कसी एक ाइब क सेवाए ँएक से अिधक उ मीदवार के

    ारा नह ली जानी चािहए । इस संबंध म ाइब और उ मीदवार को घोषणा तुत djuk gksxkA fdlh Hkh Lrj ij mYya?ku dk irk gksus ij ाइब और उ मीदवार दोन को अयो य माना जाएगा ।

    ख) ाइब क अपे ा करने वाले उ मीदवार को ऑनलाइन आवेदन के समय ाइब के संबंध म अनुल क V(डी) के अनुसार ाइब का िववरण तुत करना होगा ता क vkjvkjch@vkjvkjlh Ldzkbc ds fy, bZ&dkWy ysVj जारी कर सके और उस पर उ मीदवार और ाइब दोन ारा ह ता र कए जाने चािहए । ाइब को lhchVh क पर मूल वैध पहचान-प और पासपोट साइज का फ़ोटो लाना होगा ।

    ग) उ मीदवार के साथ म आने वाले ाइब के िलए अलग से bZ&dkWy ysVj जारी कया जाएगा ।

    घ) परी ा के दौरान ाइब ारा कए गए कसी भी कदाचार का उ रदािय व ाइब को लाने वाल ेउ मीदवार का होगा ।

    ङ) ाइब क सहायता ा करने वाले उ मीदवार परी ा के येक घंटे के िलए 20 िमनट का ितपूरक समय का उपयोग करन ेके पा ह ग े।

    च) वे उ मीदवार जो ाइब क सेवा का लाभ उठाना चाहते ह, कतु ऑनलाइन आवदेन के समय

    ाइब का िववरण तुत करने म असमथ रह ेह, वे सीबीटी क पर अनलु क V (?k) म दए गए ा प म आव यक िववरण भरकर, ाइब के िलए िनधा रत शत का िविधवत अनुपालन करते ए ाइब क सेवा का लाभ उठा सकते ह। आपात ि थितय म भी ाइब के प रवतन क अनुमित, आपात कारण को िविधवत दज़ करन,े संबंिधत िववरण को भरने और अनलु क V (?k) के अनुसार नए ाइब क फ़ोटो िचपकाने के उपरातं दी जा सकती ह ै।

    छ) LØkbc j[kus laca/kh 'krsZa l{ke izkf/kdkjh ds mu fofHkUu izko/kkuksa@vkns'kksa ds v/;/khu gksaxh tks le;≤ ij la'kksf/kr dh x;h gSaA

    11.5 एक आँख वाले उ मीदवार और ऐसे उ मीदवार िजनक दिृ क अ मता 40% से कम ह,ै उ ह दिृ िवकलांग ि नह माना जाएगा और उनके िलए ाइब क सेवाए ँ ा करने के ावधान लागू नह ह ग े।

    11.6 चयिनत ihMCY;wchMh उ मीदवार क िच क सा परी ा रेलवे िच क सा ािधका रय ारा द तावजे स यापन के समय क जाएगी तथा केवल वही उ मीदवार िनयुि के िलए पा ह ग,े जो भारतीय रेलव ेिच क सा मैनुअल तथा अ य लागू ावधान , जैसा भी मामला हो, के अंतगत िच क सा मानक पर खरे उतरग।े

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 21 of 66

    11.7 ihMCY;wchMh ि य के िलए रि याँ आरि त होने क ि थित म जब, ;wvkj] ,llh] ,lVh] vkschlh&,ulh,y क येक ेणी के िलए यूनतम अंक क यो यता के ितशत से यु पैनल का िनमाण करना संभव नह होगा तब ऐसी ि थित म समुदाय के िलए िनधा रत यूनतम यो यता अकं म 2 ितशत अंक क छूट दी जाएगी।

    12-0 jsyos ,DV vizsafVl % 12-1 jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr lhlh,, rFkk jk"Vªh; O;kolkf;d izf'k{k.k ifj"kn~ }kjk iznRr jk"Vªh; f'k{kq

    izek.ki= ¼,u,lh½ ikus okys ds }kjk Hkjh tkuh okyh fjfDr;ka vyx ls fjfDr rkfydk esa n'kkZbZ xbZ gSA ;g ihMCY;wchMh ,oa iwoZ lSfudksa ds ekeys esa gksfjtsaVy vkj{k.k izd̀fr dk gksxkA cgjgky] ihMCY;wchMh ds ekeys ds foijhr bl fof/k }kjk Hkjs tkus ds fy, ugha Hkjh xbZ fjfDr;ksa dks vkxs LFkkukUrfjr ugha fd;k tk,xkA 'kkWVZQkWy dh fLFkfr esa fjfDr LykWVksa dks la;qDr es/kk lwph ds vU; mEehnokjksa ls Hkj fy;k tk,xkA

    12-2 bl lhb,u gsrq vkWuykbu vkosnu izLrqr djus dh vafre frfFk vFkkZr~ 12-04-2019 dks ;k blls iwoZ

    vizsafV'khi iwjk djus dk dVvkWQ frfFk gksxhA fdlh mEehnokj dks ,DV vizsafVf'ki izf'k{k.k iwjk fd;k gqvk rc ekuk tk,xk tc og bl lhb,u gsrq vkWuykbu vkosnu iathdj.k dh vafre frfFk 12-04-2019 ls igys ,ulhohVh ijh{kk esa lfEefyr gqvk gks vkSj ifj.kke ?kksf"kr u gqvk gksA fQj Hkh mEehnokj dks nLrkost lR;kiu ds nkSjku ,ulhohVh }kjk tkjh ,u,lh izek.ki= izLrqr djuk gksxk] ,slk ugha djus ij os bl izko/kku ds varxZr lhlh,,¼jsyos LFkkiukvksa esa izf'kf{kr½ vkj{k.k ds fy, ik= ugha gksaxsA

    12-3 lhlh,, vU; ik=rk 'krksZa dks iwjk djus ij fdlh Hkh vkjvkjch@vkjvkjlh dks vkosnu djus ds fy,

    ik= gksaxs u fd dsoy muds izf'kf{kr jsyos LFkkiuk ds fy,A

    vkj{k.k@NwV ds ykHk izkIr djus ds bPNqd mEehnokjksa ds fy, fo'ks"k uksV %

    ,llh@,lVh@vkschlh&,ulh,y@bZMCY;w,l@ihMCY;wchMh@,Dl,l,e@lhlh,, ¼jsy LFkkiuk esa izf'kf{kr½ ds fy, miyC/k vkj{k.k@NwV ds ykHk izkIr djus ds bPNqd lHkh mEehnokjksa dks ;g lqfuf'pr djuk gksxk fd os fu;ekoyh@lhb,u esa fu/kkZfjr ik=rk ds vuqlkj ,sls vkj{k.k@NwV ds gdnkj gSaA mUgsa vius nkos ds leFkZu esa fu;ekoyh@lhb,u esa ;Fkkfu/kkZfjr fofgr izi= esa lHkh visf{kr izek.ki= muds ikl gksus pkfg,A

    13-0 lsokjr deZpkfj;ksa ds fy, vukifRr izek.ki= ¼,uvkslh½ % 13-1 dsUnz@jkT; ljdkj ds fdlh Hkh foHkkx] jsyos vFkok lkoZtfud {ks= ds miØeksa lfgr] esa lsokjr

    mEehnokj ¼izos'k izf'k{k.k izkIr dj jgs@ifjoh{kk/khu lfgr½ vius fu;ksDrk dks fof/kor~ lwfpr djrs gq, vkjvkjch@vkjvkjlh ds fy, lh/ks vkosnu dj ldrs gSaA 'kkWVZfyLV fd, x, mEehnokjksa dks nLrkost lR;kiu ds le; vius fu;ksDrk ls izkIr ,uvkslh izLrqr djuk gksxk rFkk ,slk u fd, tkus ij mudh mEehnokjh jn~n dj nh tk,xhA

    13-2 mEehnokj ;g uksV djsa fd vkjvkjch@vkjvkjlh esa muds fu;ksDrk ls mEehnokj }kjk vkosnu

    djus@ijh{kk esa lfEefyr gksus ds fy, nh x;h vuqefr dks jksdus dh lwpuk izkIr gksus ij muds vkosnu@mudh mEehnokjh vLohd`r@jn~n dj nh tk,xhA

    14.0 भत या : उ मीदवार को vkjvkjch@vkjvkjlh ds आिधका रक वेबसाइट पर उपल ध लक ारा viuh ilan ds vkjvkjch@vkjvkjlh esa lHkh vf/klwfpr inksa ds fy, केवल एक ऑनलाइन आवदेन तुत करना ह।ै

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 22 of 66

    iwjh HkrhZ izfØ;k esa कं यूटर आधा रत परी ा ¼lhchVh½] 'kkjhfjd n{krk ijh{kk ¼ihbVh½] nLrkost lR;kiu vkSj fpfdRlk tkap 'kkfey gSA lhchVh] ihbVh] Mhoh vkSj fpfdRlk tkap vFkok ;Fkk ykxw fdlh Hkh vU; vfrfjDr fØ;kdyki ds fy, frfFk] le; ,oa LFkku dk fu;ru vkjvkjch@vkjvkjlh }kjk fd;k tk,xk rFkk mldh lwpuk ik= mEehnokjksa dks ;Fkkle; nh tk,xhA mi;qZDr fdlh Hkh fØ;kdyki ds LFkxu vFkok LFkku] frfFk ,oa ikyh¼f'k¶V½ gsrq fdlh Hkh ifjorZu laca/kh vuqjks/k dks fdlh Hkh ifjfLFkfr esa Lohdkj ugha fd;k tk,xkA

    14.1. dEI;wVj आधा रत परी ा :

    lHkh ik= mEehnokjksa dks vkjvkjch@vkjvkjlh ds osclkbV ls MkmuyksM fd, gq, bZ&dkWy ysVj ds vuqlkj fu/kkZfjr frfFk] le; rFkk LFky ij dEI;wVj vk/kkfjr ijh{kk esa Hkkx ysuk gSA osclkbV rFkk ilZuy bZ&esy dE;qfuds'ku ds ek/;e ls MkmuyksM fd, x, bZ&dkWy ysVj ds laca/k esa tkudkjh mEehnokjksa dks nh tk,xhA

    lhchVh ds fy, ijh{kk vof/k ,oa iz'uksa dh la[;k uhps crkbZ xbZ gS %

    परी ा अविध िमनट म

    क सं या ( यके 1 अकं) स ेकुल क सं या lkekU;

    foKku गिणत सामा य बुि erk

    और तकशि lkekU; tkudkjh ,oa

    lkef;d fo"k;

    90* 25 25 30 20 100

    * ाइब ds lkFk vk, gq, ik= पीड यूबीडी उ मीदवार के िलए परी ा अविध 120 िमनट dh होगी ।

    उपयु सारणी म fn, x, खंडवार forj.k केवल सांकेितक gSa और वा तिवक प म कुछ varj हो सकता ह ै। usxsfVo ekfdZx gksxh vkSj izR;sd xyr mRrj ds 1/3 अकं काट िलए जाएगँ।े fofHkUu Jsf.k;ksa esa ik=rk gsrq vadksa dh U;wure izfr'krrk % ;wvkj&40%] bMCY;w,l&40%] vkschlh¼,ulh,y½&30%] ,llh&30%] ,lVh&30%- ihMCY;wchMh mEehnokjksa ds fy, vkjf{kr fjfDr;ksa ds fo:) ihMCY;wchMh mEehnokj ds vHkko esa mudh ik=rk gsrq vadksa ds izfr'kr esa 2% dh NwV nh tk,xhA tgka nwljs pj.k dh lhchVh vk;ksftr djuk vko';d le>k tkrk gks] ogka jsy iz'kklu dks ;g vf/kdkj gS fd og igys pj.k dh lhchVh dks nwljs pj.k ds fy, mi;qDr la[;k esa mEehnokjksa dh 'kkWVZfyfLVax ds mn~ns'; ls vgZd ijh{kk eku ysA iz'u izdkj ,oa ikB~;Øe % oLrqfu"B iz'u izdkj esa cgqfodYiksa ds lkFk iz'u gksaxs vkSj buesa fuEufyf[kr fo"k;ksa ls lacaf/kr iz'u 'kkfey fd, tk ldrs gSaA d½ xf.kr % la[;k i)fr] ckWMekl] n'keyo] fHkUu] ,ylh,e] ,plh,Q] vuqikr ,oa lekuqikr] izfr'krrk] esalqjs'ku] le; ,oa dk;Z] le; ,oa nwjh] lk/kkj.k ,oa pØo`f) C;kt] ykHk ,oa gkfu] chtxf.kr] T;kfefr ,o f=dks.kfefr] izkjafHkd lkaf[;dh] oxZewy] vk;q&x.kuk] dSysaMj ,oa DykWd] uy ,oa Vadh bR;kfnA [k½ सामा य बुि erk और तकशि :

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 23 of 66

    vuq:irk] o.kkZuqØe ,oa la[;k J̀[kayk] dksfMax vkSj fMdksfMax] xf.krh; lafØ;k,a] laca/k] izrhdksa }kjk izLrqfr] tEcfyax] osu vkjs[k] vkadM+k fuoZpu vkSj i;kZIrrk] fu"d"kZ ,oa fu.kZ;u] lekurk,a ,oa varj] fo'ys"k.kkRed rØ'kfDr] oxhZdj.k] fn'kk,a] dFku&rØ ,oa /kkj.kk,a bR;kfnA x½ lkekU; foKku % blds varxZr ikB~;Øe esa nloha Lrj¼lhch,lbZ½ ds HkkSfrdh] jlk;u foKku ,oa tSfod foKku ds iz'u 'kkfey gksaxsA ?k½ lkef;d fo"k;ksa ij lkekU; tkudkjh % blds varxZr foKku ,oa izkS|ksfxdh] [ksydwn] laLd`fr] O;fDrfo'ks"k] vFkZ'kkL=] jktuhfr ,oa vU; egRo ds fo"k;ksa ij vk/kkfjr iz'u gksaxsA ;g mYys[kuh; gS fd mi;qZDr lwphc) fo"k; O;k[;kRed gSa vkSj t:jh ugha fd ;g foLrr̀ gksA 14-2 'kkjhfjd n{krk ijh{kk ¼ihbVh½ lhchVh esa mEehnokjksa dh ;ksX;rk ds vk/kkj ij] ihbVh ds fy, vkjvkjch@vkjvklh ds vf/klwfpr inksa dh leqnk;okj dqy fjfDr ds rhu xq.kk mEehnokjksa dks cqyk;k tk,xkA fQj Hkh jsyos dks lHkh vf/klwfpr inksa ds fy, i;kZIr@mfpr la[;k esa mEehnokjksa dh miyC/krk lqfuf'pr djus ds fy, vko';drkuqlkj ;g vuqikr c

  • dsanzhdr̀ jkstxkj lwpuk la- vkjvkjlh&01@2019 24 of 66

    rFkkfi] ukfedkc) gsrq bu vfrfjDr mEehnokjksa ij dsoy rHkh fopkj fd;k tk,xk tc ofØax in vFkok@vkSj fdlh vU; fo'ks"k ekax ij vuq'kaflr mEehnokjksa ds dk;Zxzg.k u djus ds dkj.k 'kkWVZQkWy ds fo:) ;ksX;rk lwph vFkok@vkSj izfrLFkkiu ls ukfedk esa dksbZ 'kkWVZQkWy gksA ;fn nks ;k vf/kd mEehnokj cjkcj vad izkIr djrs gSa rks mudh esfjV fLFkfr dk fu/kkZj.k muds mez laca/kh ekunaM ls fd;k tk,xk vFkkZr~ T;knk mez ds mEehnokjksa dks mPp ojh;rk nh tk,xh vkSj leku mez gksus ij o.kZØekuqlkj ¼, ls tsM½ uke bl cjkcjh dks rksM+us ds fy, fy, tk,axsA pqus x, mEehnokjksa dh fu;qfDr jsy iz'kklu }kjk vk;ksftr visf{kr fpfdRlk mi;qDrrk tkap mRrh.kZ djus] 'kSf{kd ,oa leqnk; izek.ki= ds vafre lR;kiu vkSj mEehnokjksa ds fiNys thou@pfj= ds lR;kiu ds v/khu gksxhA ;g Hkh mYys[kuh; gS fd nLrkost lR;kiu esa lQy lHkh mEehnokjksa dks fpfdRlk tkap ds fy, Hksts tkrs gSaA vfrfjDr mEehnokjksa ds ,slh fpfdRlk tkap iwjk djus ls ¼tks fjfDr;ksa dh vf/klwfpr la[;k ls vf/kd nLrkost lR;kiu ds fy, cqyk, tkrs gksa½ ,sls mEehnokjksa dks fu;qfDr gsrq fopkj fd, tkus ds fy, dksbZ vf/kdkj ugha gksxkA mEehnokj dì;k /;ku nsa fd vkjvkjch@vkjvkjlh dsoy iSuyc) mEehnokjksa ds uke dh vuq'kalk djrk gS vkSj fu;qfDr dsoy lacaf/kr jsy iz'kklu }kjk iznku dh tkrh gSA

    15.0 अकं का सामा यीकरण : जब भी सीबीटी एक ही पा म के िलए कई स म आयोिजत कया जाता ह,ै तो िविभ चरण के

    िलए उ मीदवार क चयन उनके ारा ा सामा यीकृत अकं के आधार पर होगी। lhchVh ls ihbVh¼;Fkkykxw½ mEehnokjksa dh 'kkWVZfyfLVax vkSj nLrkost lR;kiu gsrq viukbZ xbZ lkekU;hdj.k fof/k uhps fufnZ"V gSA

    15.1 ब -स पपेर के िलए सामा यीकृत अंक क गणना : lhchVh esa] dbZ l=ksa esa ijh{kk vk;ksftr dh tk,xhA इन ब स पेपर के िलए िविभ स म

    प के क ठन तर म ए कसी भी प रवतन को समािव करने के िलए एक उपयु सामा यीकरण लाग ूकया जाएगा । ब स पेपर के िलए सामा यीकृत अंक क गणना हतेु सू नीचे दया गया ह ै:

    i th स म j th उ मीदवार का सामा यीकृत अंक

    ijM ारा दया जाता ह ै:

    jiM : ith स म j th उ मीदवार ारा ा वा तिवक अंक। gtM : सभी स क